चूहे, बिल्ली, छिपकली और कॉकरोच आदि को देखकर लोग डर  कर चीख उठते हैं। लेकिन इन सभी से कई गुना ज्यादा खतरनाक वह छोटा सा मछर है जिसे देख कर हम कभी घबराते भी नहीं। World Health Organisation के मुताबिक मछरों के काटने से फैलने वाली बिमारियों की वजह से हर साल पूरी दुनिया में लगभग 10 लाख से भी ज्यादा लोग अपनी जान गँवा देते हैं और मछरों के अलावा ऐसा कोई भी दूसरा जीव या प्राणी नहीं है जिसकी वजह से हर साल इतने सारे लोग मर जाते हैं या फिर बीमार पड़ते हैं। इसी वजह से मछर को दुनिया का सबसे जानलेवा और घातक जीव माना जाता है।

पूरी दुनिया में मछरों की लगभग 3000 से भी ज्यादा प्रजातियां पायी जाती हैं। हालाँकि हर मछर की प्रजाति जानलेवा नहीं होती लेकिन अगर घर में आने वाले मछरों के बिच में केवल एक भी मलेरिया या डेंगू फ़ैलाने वाला मछर आ जाये तो उसके केवल एक बार काटने से ही यह हमारे लिए जानलेवा साबित हो सकता है। वैसे तो मछर साल भर पाए जाते हैं लेकिन गर्मियों में और बरसात का मौसम खत्म होने के बाद मछरों की तादात बढ़ जाती है और यही वह समय होता है जब बीमारी फ़ैलाने वाले मछर काफी अधिक मात्रा में फैलने लगते हैं। मछरों के काटने से फैलने वाली बीमारियों में मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है। ये तीनो ही बीमारियां आज बहुत तेजी से फैलती जा रही हैं।

मछरों की तादात बढ़ने से मछरों को मारने वाले products का आज 25000 करोड़ से भी ज्यादा का व्यापार बन चूका है। इन products में मछर मारने वाली coil, repellent, card, lotion, spray और टिकिया जैसी चीज़ें शामिल हैं। अभी तक मछरों को मरने के लिए ऐसा कोई भी product नहीं बना है जो की सिर्फ मछरों को मारे और इंसान पर कोई भी बुरा प्रभाव न डाले क्योंकि इन सभी products में chemical की मात्रा बहुत अधिक होती है जोकि एक ओर मछरों को भगा कर उनसे हमें बचाती तो है लेकिन दूसरी तरफ खुद हमारे शरीर के लिए नयी नयी बीमारियां लेकर आ जाती हैं।

आज हम जानेगे कुछ ऐसे आसान उपाय के बारे में जिनके इस्तेमाल से घर में आने वाले मछरों से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है। इन नुस्खों को 3 अलग अलग तरीकों से इस्तेमाल में लाया जा सकता है पहला तरीका सबसे तेज़ है और इससे मात्र 10 से 15 seconds में ही कमरे में मौजूद सारे मछर दूर हो जाते हैं।
दूसरा तरीका रात भर मछरों को हमारे पास आने से रोकता है और तीसरा तरीका बड़े कमरे और hall जैसी बड़ी जगहों के लिए सबसे ज्यादा बेहतर है। इन सब के आलावा हम यह भी जानेगे की सफर के दौरान या खुले जगहों पर अपने आप को मछरों से कैसे बचाया जा सकता है।

नुस्खा No. 1: Natural आयुर्वेदिक Fast Card


चलिए बात करते है पहले नुस्खे की इसे बनाने के लिए हमे जरुरत होगी Bay Leaves यानिकि तेज पत्ता, नीम का तेल और कपूर की।
नीम के तेल का अंदर antibacterial properties पायी जाती है जो मछरों को भागने के साथ साथ त्वचा पर होने वाले pimples, दाद खाज, खुजली और त्वचा से जुड़े कई तरह के रोगों को पूरी तरह से खत्म  करने के लिए बहुत उपयोगी होता है। नीम का तेल आपको किसी भी दवाई की दुकान या आयुर्वेदिक store पर कम दामों में ही आसानी से मिल जायेगा।
इस नुस्खे को तैयार करने के लिए सबसे पहले 1 कटोरी यानि की 100 ml नीम के तेल में 1 बड़ा चम्मच जलाने वाले कपूर का बारीक powder बना कर मिलाएं। उसके बाद इस तैयार तेल को किसी spray bottle या फिर plastic के जार में भर कर रख लें। यह नुस्खा मछर भगाने वाले fast card की तरह काम करता है इसके लिए 2 से 3 तेज पत्तों पर कपूर और नीम के तेल के मिश्रण को लगा कर spray कर के इसे मछरों वाले कमरे में जला दें। इसके जलने से निकलने वाला धुंआ कमरे में मौजूद सारे मछरों पर मात्र 10 से 15 सेकंड मे ही असर दिखाना शुरू कर देता है।

तेज पत्तों को जलाकर निकलने वाला धुंआ हमारे दिमाग को शांत करने का काम करता है। रात को नींद न आना, सर दर्द या सर में भारीपन लगने के साथ साथ यह दिमाग से stress और tension को भी दूर करता है। इसीलिए ज्यादातर Spa, Meditation या Yoga Studio में relaxation के लिए रोजाना तेजपान के पत्तों को जलाया जाता है। तेजपान के पत्तों पर कपूर और नीम के तेल का मिश्रण लगा कर जलने से रात में अच्छी नींद भी आती है और हमें मछरों से भी छुटकारा मिल जाता है। इसका धुंआ Asthma और Migraine के मरीजों के लिए भी लाभदायक होता है। इसे और ज्यादा खुशबूदार बनाने के लिए नीम के तेल में थोड़ा सा Peppermint oil भी मिलाया जा सकता है।

नुस्खा No. 2: दीया, Oil Lamp या Chimney

इसके अलावा जो दूसरा तरीका है इसमें कपूर और नीम के तेल के मिश्रण का दिया जला कर रात भर अपने कमरे में बिस्तर के पास रखें। ऐसा करने से नीम और कपूर के जलने से निकलने वाली खुशबू फैलने लगती है जोकि मछरों को हमारे पास आने से रोकती है। अगर आपको बार बार दीया जलाने का काम पसंद नहीं है तो किसी छोटी कांच की शीशी से Oil Lamp या Chimney बना लें ठीक उसी तरह जिस तरह पुराने ज़माने में बनायीं जाती थी। ऐसा करने से इसमें बार बार तेल भी नहीं भरना पड़ता और यह लम्बे समय तक आसानी से चल जाता है।

नुस्खा No. 3: Oil Burner

दीये का असर केवल छोटी जगहों या बिस्तर के आसपास की जगह तक ही सीमित होता है। बड़ी जगहों के लिए दीये की जगह Oil Burner का इस्तेमाल करें। Oil Burner आपको किसी भी gift shop या general store पर कम दामों में ही आसानी से मिल जायेगा या आप इसे online भी खरीद सकते हैं। सामान्यतः Oil Burner के निचे मोमबत्ती यनिके candle का इस्तेमाल होता है लेकिन अगर आप candle की जगह इसमें नीम के तेल के दीये या फिर chimney का इस्तेमाल करते हैं तो इसका असर दोगुना हो जाता है और यह बड़ी जगहों पर भी आसानी से फैलने लगता है।

इसके अलावा अगर आप सफर में या घर से कहीं बाहर जाते है तो अपनी skin पर नारियल का तेल, नीम का तेल, लौंग का तेल, Peppermint oil और नीलगिरि के तेल को आपस में मिलाकर इनका एक Natural Mosquito Repellent की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। यह सभी तेल skin के लिए फायदेमंद भी होते हैं और साथ ही मछरों को हमारे पास आने से भी रोकते हैं।

दोस्तों ये सभी तरीके पूरी तरह प्राकृतिक हैं और मछरों को भगाने के लिए सबसे ज्यादा असरदार भी हैं। साथ ही इनका हमारे स्वस्थ पर कोई बुरा प्रभाव नहीं बल्कि अच्छा प्रभाव पड़ता है। इसलिए अबसे मछरों से बचने के लिए हानिकारक chemical युक्त products use करने की जगह इन natural तरीकों का ही इस्तेमाल करें।

उम्मीद करता हूँ के यह information आपके जीवन में बहुत ही कारगर सिद्ध हो। अगर आपकी कोई राय हो या सवाल हो तो comment कीजिये और Facebook और Whatsapp पर उन लोगों से share कीजिये जिन्हे इसकी जरुरत है।